गामा चैम्बर्स (5000 तथा 1200)

gc5000

गामा चैम्बर्स (5000 तथा 1200) सुसंहत, स्वपरिरक्षित कोबाल्ट-60 आधारित अनुसंधान किरणक हैं जिनमें क्रमश: 518 TBq (14 kCi) तथा 185 TBq (5 kCi) स्त्रोत का बह्रण किया जा सकता है । 5000 cc तथा 1200 cc आयतन क्षमता वाले ये किरणक जैव एवं रसायन शास्त्र में अनुसंधान के लिये उपयोगी है । इनकी स्थापना एवं उपयोग में अतिरिक्त परिरक्षण की आवश्यकता नही होती । किरणन समय के नियंत्रण के लिये इन चैम्बर्स में पीएलसी नियंत्रण पद्धति का समावेश किय गय है । इनमें विभिन्न उत्पादों को उच्च अथवा निम्न तापमान पर किरणित करने की सुविधा भी उपलब्ध कराई गई है ।

गामा चैम्बर्स में स्त्रोत पैंसिल बेलनाकार केस में इस तरह समाहित की गई हैं कि उत्पादों को किरणन के दौरान समान विकिरण मात्रा मिल सके । इन चैम्बर्स में उत्पादों को घुमाने/हिलाने के लिये भी सुविधा प्रदान की गई है ।

जीसी 5000 तथा जीसी 1200 का डिज़ाइन अमरीकी राष्ट्रीय मानक ANSI N433.1-1977, श्रेणी -1 (स्वत: पूर्ण, शुष्क स्त्रोत भंडारण गामा किरणक ), के अनुसार निर्मित किया गया है । अंतर्राष्ट्रीय परमाणु ऊर्जा एजेंसी ( IAEA) तथा भारत के परमाणु ऊर्जा नियामक परिषद (AERB) के संरक्षा कोड  के आधार पर इन चैम्बर्स को रेडियोसक्रिय सामग्री के सुरक्षित परिवहन के लिये इन्हे टाइप बी (यू) पैकेज की श्रेणी में रखा गया है । देश तथ विदेश में इस प्रकार के के कई किरणक ब्रिट ने उपलब्ध करवाये है ।

Updated: Friday October 05, 2018 15:33